उमेश यादव ने उखाड़ फेंकी इंग्लैंड की जड़, चौथे टेस्ट में पैदा की सनसनी| Hindi News


लंदन: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने 9 महीने बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में धमाकेदार वापसी की है. उमेश यादव ने चौथे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट को आउट करते हुए मेजबान टीम की जड़ उखाड़ फेंकी. जो रूट को आउट करते ही उमेश यादव ने चौथे टेस्ट मैच में अचानक सनसनी पैदा कर दी, जिससे भारतीय फैंस को बहुत मजा आया. 

उमेश यादव ने उखाड़ फेंकी इंग्लैंड की जड़

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट आधी टीम के बराबर हैं, जो एक बार क्रीज पर टिक जाते तो टीम इंडिया को मैच से बाहर कर देते. पहली पारी में टीम इंडिया को 191 रनों पर ऑलआउट करने के बाद इंग्लैंड की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही. इंग्लैंड ने 6 रन के स्कोर पर रोरी बर्न्‍स (5) और हसीब हमीद (0) के विकेट गंवाए. इसके बाद उमेश यादव ने इंग्लिश कप्तान जो रूट को क्लीन बोल्ड कर भारत को मैच में वापस ला दिया. रूट ने 25 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 21 रन बनाए थे.

लगातार तीन मैचों में शतक जमा चुके थे रूट

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भारत के खिलाफ लगातार तीन मैचों में शतक जमा चुके थे. चौथे टेस्ट मैच में भी रूट इसी मकसद से उतरे थे, लेकिन उमेश यादव ने उनके इरादों पर पानी फेर दिया. इंग्लैंड ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक पहली पारी में तीन विकेट पर 53 रन बनाए हैं और वह अभी भारत से 138 रन पीछे चल रहा है. भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह को दो और उमेश यादव को अबतक एक विकेट मिला है.

उमेश यादव पर लटक रही थी तलवार

टीम इंडिया में बढ़ते कॉम्पिटिशन की वजह से उमेश यादव का करियर खत्म होने की कगार पर था. दरअसल, 9 महीने से विराट कोहली उमेश यादव को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दे रहे थे, जिसके कारण इस खिलाड़ी का करियर अंत की ओर बढ़ रहा था, लेकिन उमेश ने बता दिया कि वो क्यों स्पेशल हैं. 

उमेश ने दुनिया को दिखाया अपना दम 

टीम इंडिया ने मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज, इशांत शर्मा, शार्दुल ठाकुर जैसी बॉलिंग यूनिट को तैयार कर लिया, जिसकी वजह से उमेश यादव को मौका मिलना मुमकिन नजर नहीं आता था. उमेश यादव पहले ही वनडे और टी-20 टीम से बाहर चल रहे थे और फिर उन्हें टेस्ट टीम में भी मौका नहीं मिल रहा था, लेकिन उमेश ने इसकी परवाह नहीं करते हुए दुनिया को अपना दम दिखाया.

किसी ने भी नहीं दिया साथ 

33 वर्षीय अनुभवी तेज गेंदबाज उमेश यादव ने इससे पहले भारत के लिए अपना अंतिम टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खेला था. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर एडिलेड टेस्ट में उन्होंने 3 और मेलबर्न टेस्ट में एक विकेट चटकाया था. उसके बाद चोटिल होने के चलते उनको बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से बाहर होना पड़ा था. इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में उमेश फिट ना होने के चलते टीम में जगह नहीं बना सके थे, जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में उनको प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला था.





Source link

Leave a Comment