पुजारा ने किया भारत की एतिहासिक जीत को याद, कहा- उसने किया देश को साथ लाने का काम| Hindi News


Cheteshwar Pujara: दिग्गज भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया में 2020-21 बॉर्डर-गावस्कर सीरीज जीत ने युवा क्रिकेटरों को प्रेरित और देश को एक साथ लाने का काम किया. उन्होंने यह भी कहा कि उनके लिए यह सर्वश्रेष्ठ टेस्ट सीरीज में से एक थी, जिसका वह हिस्सा रहे हैं. पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के दोनों टेस्ट दौरों में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई. 2018-19 की गर्मियों में डाउन अंडर के दौरान उन्हें मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस और जोश हेजलवुड की तेज ऑस्ट्रेलियाई तिकड़ी के खिलाफ 7 पारियों में 521 रन बनाने के बाद मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार से नवाजा गया था.

पुजारा ने किया था कमाल

अनुभवी बल्लेबाल ने दौरे के दौरान 1258 गेंदें और 30 घंटे तक बल्लेबाजी की, जिससे विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने वाली पहली भारतीय टीम बनने में मदद की. 2020-21 के दौरे में फिर से पुजारा ने 4 मैचों में 271 रन बनाए और भारत की 2-1 सीरीज जीत में कुछ महत्वपूर्ण पारियां खेलीं. पुजारा ने ‘बंदों में था दम’ के ट्रेलर लॉन्च इवेंट से इतर आईएएनएस से कहा, ‘इस सीरीज जीत ने सभी खिलाड़ियों और लोगों को बहुत आत्मविश्वास दिया. मुझे यकीन है कि कई युवा क्रिकेटर थे, जिन्होंने उस सीरीज को देखा, जिससे उन्हें प्ररेणा मिली होगी. ऑस्ट्रेलिया में वह यादगार टेस्ट सीरीज, जो इस महीने के अंत में स्ट्रीमिंग सेवा वूट सेलेक्ट पर प्रसारित होगी.

खिलाड़ियों को साथ लाने का किया काम

उन्होंने आगे कहा, ‘तो हां, इसने एक ही समय में कई युवा खिलाड़ियों को प्रेरित किया, इसने देश को एक साथ लाने का काम किया क्योंकि कभी-कभी जब आप विदेशों में जीतते हैं, जब आप एक कठिन परिस्थिति से वापस आते हैं, तो पूरा देश आपके पीछे होता है, वे चाहते हैं कि भारतीय टीम जीत जाए। तो हां, यह शायद सबसे अच्छी टेस्ट सीरीज में से एक थी जिसका मैं हिस्सा रहा हूं.’ पुजारा के लिए 2020-21 की जीत अतिरिक्त विशेष थी क्योंकि यह ऐसे समय में आई थी, जब भारतीय टीम चोटों और अन्य मुद्दों के कारण अपने मुख्य खिलाड़ियों के साथ नहीं खेल रही थी.

उन्होंने आगे कहा, ‘लेकिन पूरी टीम ने दमदार खेल दिखाया. टीम में एकता थी, मौका मिलने वाले सभी युवा खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया. इसलिए हम एक टीम के रूप में खेले और मुझे लगता है कि इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है और यही कारण है कि हम उन टेस्ट मैचों में विजयी हुए.’





Source link

Leave a Comment