24,296 COVID-19 cases 173 deaths in Kerala, TPR crosses 18 per cent – केरल में कोरोना ब्लास्ट, एक दिन में 24 हजार से ज्‍यादा नए केस, 173 लोगों ने गंवाई जान


24,296 COVID-19 cases 173 deaths in Kerala, TPR crosses 18 per cent- India TV Hindi
Image Source : PTI
केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में एक बार फिर भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

तिरुवनंतपुरम: केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में एक बार फिर भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। यहां संक्रमण देश में सबसे तीव्र गति से बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे में केरल में कोविड-19 के 24,296 नए मामले सामने आए और 173 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही कुल संक्रमितों और मृतकों की संख्या बढ़कर क्रमश: 38,51,984 और 19,757 हो गई। सोमवार को संक्रमण दर 15.63 फीसदी थी, जो अब बढ़कर 18.04 फीसदी हो गई। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में यहां बताया गया कि सोमवार से 19,349 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कुल स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 36,72,357 हो गई। 

विज्ञप्ति के अनुसार राज्य में कोविड-19 के 1,59,335 मरीजों का उपचार चल रहा है। बयान में बताया गया कि राज्य में संक्रमण के सबसे ज्यादा 3,149 नए मामले एर्नाकूलम जिले से सामने आए हैं। विज्ञप्ति के अनुसार नए मरीजों में 90 स्वास्थ्यकर्मी हैं। राज्य के पांच जिलों में 2 हजार से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए हैं। सबसे ज्यादा नए मामले एर्नाकुलम में 3,149, इसके बाद त्रिशूर में 3,046, कोझिकोड में 2,875, मलप्पुरम में 2,778, पलक्कड़ में 2,212, कोल्लम में 1,762, कोट्टायम में 1,474, तिरुवनंतपुरम में 1,435, कन्नूर में 1,418, अलप्पुझा में 1,107 और पतनमथिट्ठा में 1,031 केस सामने आए।

केरल सरकार सितंबर के आखिर तक 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक लगा देने के लक्ष्य पर काम रही है और इस संबंध में सभी जिलों को वैक्सीनेशन योजना बनाने का निर्देश दिया गया है। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जार्ज के फेसबुक पेज के एक पोस्ट के मुताबिक, मंत्री ने अपने विभाग की एक आपात बैठक में ये निर्देश दिये। यह बैठक राज्य में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या की समीक्षा और यथासंभव अधिकाधिक लोगों के लिए वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने को लेकर बुलायी गयी थी। 

फेसबुक पोस्ट के मुताबिक, मंत्री ने बैठक में निर्देश दिया कि वैक्सीनेशन लगाने में देरी से बचने पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीरिंज की कमी की समस्या का समाधान किया जा रहा है। जार्ज ने कहा कि केंद्र ने राज्य को 1.11 करोड़ वैक्सीन देने का वादा किया है और ऐसे में शीघ्र ही अधिक खुराक उपलब्ध होंगी। उन्होंने यह भी कहा कि ओणम के बाद कोरोना वायरस के मामले बढ़ने की आशंका है, इसलिए अस्पतालों को ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने की जरूरत है। 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा, तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर जिला स्तर पर अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड, आईसीयू एवं वेंटीलेटर का इंतजाम करके उस स्थिति से निपटने की व्यवस्था की जा रही है। मंत्री ने कहा कि चूंकि ऐसी आशंका है कि तीसरी लहर बच्चों को अधिक प्रभावित कर सकती है, क्योंकि उन्हें अब तक वैक्सीन नहीं लगा है, ऐसे में उनके इलाज पर विशेष ध्यान दिया जाएगा तथा उसके लिए बालचिकित्सा वार्ड एवं आईसीयू का भी इंतजाम किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि मृत्युदर कम से कम रखने पर ध्यान दिया जाना चाहिए तथा इस बात का भी ख्याल रखा जाना चाहिए जो लोग घरों में पृथक वास में हैं, वे दिशानिर्देशों का सही सही पालन करें।

ये भी पढ़ें





Source link

Leave a Comment