9 ways to increase your confidence know how to boost self confidence and mental health tips samp | Mental Health Tips: सक्सेस पाने के लिए चाहिए Confidence, दूसरों से आगे ले जाएंगे ये 9 तरीके


Mental Health Tips: सक्सेसफुल होना हर किसी का सपना होता है. लेकिन सक्सेस के लिए एक कॉन्फिडेंस की जरूरत होती है, जिसे सेल्फ-कॉन्फिडेंस कहा जाता है. सफलता प्राप्त करने के लिए आपको दूसरों से अलग होना पड़ता है, तभी आप उनसे आगे पहुंच पाते हैं. दूसरों से खास बनने के लिए आपको अपना आत्मविश्वास बढ़ाने की जरूरत होती है. आइए जानते हैं कि सेल्फ-कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए आपको किन 9 तरीकों को अपनाना चाहिए.

Boost Confidence: सेल्फ-कॉन्फिडेंस बढ़ाने के शानदार 9 तरीके
कॉन्फिडेंस बूस्ट करने के लिए आपको कई फैक्टर्स पर काम करना पड़ता है. जो कि मिलकर एक पर्सनालिटी या नजरिए का निर्माण करते हैं और आपको लक्ष्य की तरफ प्रेरित करता है. सेल्फ-कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए आपको इन 9 कामों को करना पड़ेगा.

1. एक समय पर एक कदम पर ध्यान लगाएं
कोई भी व्यक्ति रातोंरात सफलता प्राप्त नहीं कर पाता है. इसलिए एक बार या जल्दी सफल होने की उम्मीद करना सिर्फ आपको निराश कर सकती है. बल्कि आपको लक्ष्य और नतीजे की चिंता किए बिना सिर्फ एक कदम पर विश्वास और ध्यान रखना चाहिए. जिससे आप उस काम को पूरी शिद्दत से कर पाएं. सफलता पाने का सक्सेस मंत्र यही है कि आप एक-एक सीढ़ी चढ़ें.

2. कंफर्ट जोन से बाहर निकलें
कॉन्फिडेंस तभी बढ़ता है, जब आप छोटी-छोटी सफलता हासिल करते हैं और सफलता तभी मिलती है, जब आप अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलते हैं. असफल होने का डर नई चीजों को करने से रोकता है, जिस कारण आपका विकास रुक जाता है. जब विकास रुक जाएगा, तो सफलता कभी नहीं मिलेगी.

3. सपोर्ट करने वालों के साथ रहें
आप कैसे लोगों के साथ रहते हैं, इसका आपकी मेंटल हेल्थ पर बड़ा असर पड़ता है. आप ऐसे लोगों के साथ रहें, जो आपको सपोर्ट करते हों और आपके विकास व आत्मविश्वास को बढ़ा सकें. जो आपकी खासियतों के साथ कमियों के बारे में भी सकारात्मक रूप से बता सकें.

4. खुशी देने वाले काम करें
कॉन्फिडेंस और हैप्पीनेस का सीधा संबंध है, जब आप खुश रहते हैं, तो ज्यादा आत्मविश्वासी नजर आते हैं. इसलिए वो काम जरूर करें, जिससे आपको व्यक्तिगत स्तर पर खुशी मिलती है. जैसे एक्सरसाइज, पेन्टिंग, लिखना, दोस्तों से मिलना आदि

5. असफल होने से ना डरें
हमारा व्यवहार ही कॉन्फिडेंस बनाता है. जो लोग किसी भी काम में असफल होने के डर के साथ शुरुआत करते हैं, वो कम आत्मविश्वासी नजर आते हैं. वहीं, जो लोग असफलता को सक्सेस की शुरुआत मानकर काम करते हैं, वो ज्यादा बेहतर तरीके से काम करते हैं और सफलता भी प्राप्त करते हैं.

6. फैसलों पर टिके रहें
जब आप कोई फैसला लेते हैं, तो उसकी शुरुआत में लोग उसे बेवकूफी, नादानी आदि कहते हैं. लेकिन इस वक्त आपको डिगना नहीं है, बल्कि अपने फैसलों के साथ टिके रहें और उस पर विश्वास करते रहें. ऐसे ही लोगों का सेल्फ-कॉन्फिडेंस बढ़ा रहता है और वह सफल हो पाते हैं.

7. लक्ष्य की तरफ लगे रहें
कॉन्फिडेंस निश्चय और भूतकाल से मिलकर बनता है. अगर आप ने निश्चय कर लिया है, तो आप किसी भी काम को पूरा करके ही दम लें. ये छोटी-छोटी सफलता इतिहास बनती जाएंगी और भविष्य में बड़े लक्ष्य के लिए कॉन्फिडेंस बूस्ट करने का काम करेंगी. आपकी बातों और निश्चयों को ज्यादा अर्थ और गंभीरता मिलती है.

8. खुद को स्वीकार करें
हर किसी के कुछ अंतर्निहित मूल्य होते हैं, जो दूसरों से अलग होते हैं. इन मूल्यों को पहचानना ही आत्म-विश्वास को बढ़ाने में मदद करते हैं. आप कैसे सोचते हैं, कैसे काम करते हैं, आपकी पसंद क्या है, आपके नैतिक मूल्य क्या है, उनको स्वीकार करते हुए प्यार करें. इसमें समय लगेगा, लेकिन यही सच्ची सफलता का अर्थ है.

9. खुद के लिए दयालु बनें
सफलता-असफलता से इतर आपको प्यार की जरूरत है. जब हमें लगता है कि असफल होने पर हम किसी चीज से वंचित हो जाएंगे, तो हारने से डर पैदा होने लगता है और सबसे जरूरी चीज खुद से प्यार करना है. इसलिए आप खुद से प्यार करें और अपने प्रति दयालु बनें. इससे आपके अंदर से हार का डर खत्म होगा.

Disclaimer
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link

Leave a Comment