ayush ministry recommends ayurvedic fumigation to prevent covid 19 know how to do it samp | घर में करें इस चीज का धुआं, भाग जाएगा कोरोना, मोदी सरकार ने खुद बताया तरीका


भारत में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में मोदी सरकार ने कोरोना से बचाव का एक देसी तरीका लोगों को बताया है. जिसकी जानकारी आयुष मंत्रालय के ‘हॉलिस्टिक हेल्थ और वेल बीइंग’ सलाह में दी गई है. मंत्रालय ने कोरोना से बचाव के लिए कुछ आयुर्वेदिक तरीकों और सलाह की जानकारी दी है. जिन्हें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, वैक्सीनेशन आदि कदमों के साथ अपनाया जा सकता है. इसी सलाह में कुछ खास चीजों से घर में धुआं करने की सलाह भी दी गई है. आइए, कोरोना से बचने के इस आयुर्वेदिक तरीके (Ayurvedic tips to prevent Covid-19) के बारे में जानते हैं.

ये भी पढ़ें: Dandruff and Hair fall: ठंड में ये गलती करने से सिर में भर जाएगा डैंड्रफ, होने लगेगा खतरनाक हेयर फॉल

Fumigation to prevent Covid-19: कोविड-19 से बचने के लिए घर में करें धूपना
आयुष मंत्रालय कोरोना से बचने के अन्य तरीकों के खंड में घर में धूपना यानी धुआं करने की सलाह भी देता है. लेकिन उसके लिए वह एंटीमाइक्रोबियल गुण वाली चीजों का इस्तेमाल करने की सलाह देता है. जैसे- नीम और सरसों के पत्तों का धुआं करना, लोबान का धुआं करना, कपूर या घी का धुआं करना, आदि. इसके अलावा, आयुष मंत्रालय कोरोना से बचने के लिए घर में अपराजिता धूप चूर्ण से धूपना करने की सलाह भी देता है.

  1. आयुष मंत्रालय कहता है कि सबसे पहले धुआं करने के लिए एक पात्र लें.
  2. इसके बाद इसमें नारियल के खोल या कोयले सुलगा लें.
  3. अब इसके ऊपर थोड़ा अपराजिता धूप चूर्ण छिड़कें और घर के अंदर अच्छी तरह धुआं करें.
  4. जब पाउडर पूरी तरह जल जाए, तो थोड़ा और पाउडर डाल लें.
  5. ध्यान रखें कि जहां आप कोरोना से बचने के लिए धूपन कर रहे हैं, वहां हवा के आने-जाने का पूरा प्रबंध हो.

ये भी पढ़ें: सर्दी में नहाने से बचने का मस्त तरीका, बस अपना लें ये 1 तरीका

How to increase immunity: इम्युनिटी बढ़ाने के तरीके
आयुष मंत्रालय ने शरीर की इम्युनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक तरीकों के बारे में भी जानकारी दी है. जैसे-

  • दिन में एक बार आयुष काढ़ा का सेवन
  • दिन में दो बार हल्दी वाला दूध पीएं.
  • गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार 3-5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर का सेवन करें.
  • सुबह के समय गुनगुने पानी या दूध के साथ 10 ग्राम च्यवनप्राश खाएं. डायबिटिक पेशेंट शुगर-फ्री च्यवनप्राश का सेवन करें.
  • तुलसी के साथ उबाले गए ताजे पानी का सेवन करें. आदि

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.





Source link

Leave a Comment