Cyber fraud of Rs 26 crore with Sonam Kapoor father in laws, police arrested nine people | सोनम कपूर के ससुर को ठगों ने लगाया 27 करोड़ का चूना, ऐसे हुआ खुलासा


फरीदाबाद: बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनम कपूर के ससुर हरीश आहूजा की कंपनी से 27 करोड़ रुपये से ज्यादा की साइबर ठगी का मामला सामने आया है. ठगों ने रिबेट ऑफ स्टेट एंड सेंट्रल टैक्सेस एंड लेवीज (RoSCTL) लाइसेंस के जरिये इस ठगी को अंजाम दिया.

केस में 9 आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कर्नाटक से 9 लोगों को गिरफ्तार कर किया है. डिप्टी कमिश्नर नीतीश अग्रवाल ने बताया कि फरीदाबाद पुलिस को 26 जुलाई 2021 को सेक्टर-28 में स्थित इस शाही एक्सपोर्ट कंपनी से RoSCTL लाइसेंस के जरिये ठगी की शिकायत मिली थी. उन्होंने बताया कि इस संबंध में सेक्टर 31 थाने में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें: कंगना रनौत के ‘लॉक अप’ के जेलर बने करण कुंद्रा, दिए ऐसे टास्क; कैदियों के छूट गए पसीने!

अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने यह मामला सुलझाते हुए दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कर्नाटक से 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों में दिल्ली निवासी मनोज राणा, मनीष कुमार, प्रवीन कुमार व मनीष कुमार मोगा और रायचूर (कर्नाटक) निवासी गणेश परसुराम व महाराष्ट्र निवासी भूषण किशन ठाकुर (मुंबई), राहुल रघुनाथ (रायगढ़) व संतोष सीताराम (पुणे) शामिल हैं. उन्होंने बताया कि इनके अलावा चेन्नई निवासी सुरेश कुमार जैन और न्यू राजेंद्र नगर दिल्ली निवासी ललित कुमार जैन को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया है.

हाइटेक तरीके से वारदात को अंजाम

अग्रवाल ने बताया कि भारत सरकार द्वारा निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कंपनियों को विशेष छूट दी जाती है. इसे RoSCTL लाइसेंस कहा जाता है. लाखों रुपये मूल्य के ये एक तरह से ऑनलाइन डिस्काउंट कूपन होते हैं. RoSCTL लाइसेंस डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट (डीएससी) से इस्तेमाल किए जा सकते हैं या किसी अन्य को बेचे भी जा सकते हैं.

अग्रवाल के मुताबिक आरोपी मनोज राणा, मनीष कुमार, प्रवीन कुमार और मनीष कुमार मोगा विदेश व्यापार महानिदेशालय में क्लर्क स्तर पर काम कर चुके हैं. वे निदेशालय की कार्यप्रणाली से अच्छी तरह परिचित हैं. वे पहले बड़ी-बड़ी कंपनियों के इम्पोर्ट एक्सपोर्ट कोड को हासिल करके उनका रिकॉर्ड चेक करते थे और यह पता लगाते थे कि कंपनी के खाते में कुल कितनी रकम के RoSCTL लाइसेंस हैं.

ठगों ने ऐसे रचा पूरा खेल

इसके बाद उस कंपनी के डायरेक्टर के नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार करते थे. इन फर्जी दस्तावेज से फर्जी व्यक्ति का वीडियो शूट करवाकर फर्जी डीएससी जारी करा लेते थे. असली कंपनी की जानकारी के बिना उसके RoSCTL लाइसेंसों को धोखाधड़ी से अपनी फर्जी कंपनी में ट्रांसफर कर लेते थे.

इस गिरोह में शामिल आरोपी भूषण और राहुल किसी भी व्यक्ति के नाम पर एक फर्जी कंपनी रजिस्टर्ड करवा देते थे. इन्होंने अपने साथी आरोपी गणेश जो एक ऑटो ड्राइवर है उसके नाम पर ब्लैक कर्व कॉरपोरेशन नाम से एक फर्जी कंपनी बनाई. आरोपी मनीष मोगा ने एक वीडियो बनाकर खुद को शाही कंपनी का निदेशक हरीश आहूजा के तौर पर पेश किया और उनकी एक फर्जी डीएससी आइडी बनवा ली. इस आइडी से शाही एक्सपोर्ट कंपनी के 27.61 करोड़ रुपये मूल्य के 154 RoSCTL लाइसेंस को ब्लैक कर्व कॉरपोरेशन के नाम ट्रांसफर करा लिए.

27 करोड़ के फर्जी लाइसेंस हुए फ्रीज

इस मामले के जांच अधिकारी इंस्पेक्टर बसंत कुमार ने बताया कि आरोपियों के कब्जे से दो लैपटॉप, एक कंप्यूटर, छह मोबाइल व 20 हजार रुपये बरामद किए गए हैं. आरोपियों की ओर से ट्रांसफर किए गए 27.61 करोड़ के लाइसेंस को ‘फ्रीज’ करवा दिया गया था और ये शाही एक्सपोर्ट कंपनी को वापस मिल गए हैं.

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर का विवाह 8 अप्रैल 2018 को अपने बॉयफ्रेंड आनंद आहूजा के साथ हुआ था.

LIVE TV





Source link

Leave a Comment