Earth realigns with Neptune on Tuesday 14th september | आज आसमान में दिखेगी अद्भुत खगोलीय घटना, पृथ्वी के बेहद करीब होगा ये रहस्यमयी ग्रह


नई दिल्ली: सौर मंडल (Solar System) का सबसे रहस्यमयी और विशाल ग्रह Neptune आज पृथ्वी (Earth) के बेहद करीब आएगा. 14 सितंबर को नेपच्यून (Neptune) धरती के सबसे करीब होगा और ये खगोलीय घटना बेहद खास होगी. 

धरती के बेहद करीब होगा नेपच्यून 

हालांकि वैज्ञानिकों के मुताबिक, नेपच्यून (Neptune) का बेहद करीब आना भी धरती के बहुत ज्यादा करीब नहीं का जा सकता क्योंकि, इस ग्रह की दूरी पृथ्वी (Earth) से बहुत ज्यादा है. नेपच्यून (Neptune) सौर मंडल का एकमात्र ऐसा ग्रह है, जिसे नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकता.

मंगलवार 14 सितंबर को नेपच्यून (Neptune)  धरती के बेहद करीब होगा. इसे आप मध्यरात्रि में दूरबीन की मदद से देख सकते हैं. रात को चांद (Moon) की रोशनी में नेपच्यून सबसे चमकीला नजर आएगा.

सौर मंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह

नेपच्यून आज पृथ्वी के 24 करोड़ किमी नजदीक आकर 4.3 अरब किमी की दूरी पर होगा. सौर मंडल के तीसरे सबसे बड़े ग्रह नेपच्यून के 14 चंद्रमा हैं. यह ग्रह बर्फीला है और यहां तापमान माइनस 214 डिग्री सेल्सियस रहता है.

मंगल पर जगी जीवन की उम्मीद, NASA के वैज्ञानिकों को चट्टान में मिला नमक

 

सबसे दूर स्थित ग्रह

नेपच्यून मंगलवार को सूर्यास्त के आसपास पूर्व से उदय होगा. रात 12 बजे यह आकाश में सर्वोच्च बिंदु पर रहेगा और सुबह पश्चिम में अस्त होगा. वैज्ञानिकों के मुताबिक, नेपच्यून का दिन केवल 16 घंटे का होता है, लेकिन इसका वर्ष पृथ्वी के 165 साल के बराबर है. सूर्य की परिक्रमा करने में नेपच्यून को 165 अर्थ आवर्स लगते हैं. 

क्या हर साल लेनी होगी COVID-19 vaccine? जानें कब तक रहती है इम्युनिटी

नेपच्यून सौर मंडल का सबसे दूर स्थित ग्रह माना जाता है. इसके प्रकाश को पृथ्वी तक आने में चार घंटे का समय लगता है, जबकि सूर्य का प्रकाश पृथ्वी तक आठ मिनट में पहुंचता है.

VIDEO-





Source link

Leave a Comment