Government Convenes All party meeting on august 26 on Afghanistan Crisis । अफगानिस्तान मसले पर सरकार ने 26 अगस्‍त को बुलाई सर्वदलीय बैठक


अफगानिस्तान मसले पर सरकार ने 26 अगस्‍त को बुलाई सर्वदलीय बैठक, MEA देगा पूरी जानकारी- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV
अफगानिस्तान मसले पर सरकार ने 26 अगस्‍त को बुलाई सर्वदलीय बैठक, MEA देगा पूरी जानकारी

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद उपजे हालात को लेकर भारत की रणनीति क्या होगी? अभी इस पर ज्यादा कुछ कह पाना मुश्किल है। वहीं सूत्रों के मुताबिक, केंद्र की मोदी सरकार ने अफगानिस्तान के मसले को लेकर 26 अगस्त (गुरुवार) को सुबब 11 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। कहा जा रहा है कि फ्लोर लीडर्स को अफगानिस्तान के मामले पर जानकारी दी जाएगी। 

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर दी जानकारी

सूत्रों के मुताबिक, अफगानिस्तान मसले पर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विदेश मंत्रालय (MEA) अफगानिस्तान के ताजा हालात और भारत सरकार के ऑपरेशन्स के बारे में विस्तार से जानकारी देगा। गौरतलब है कि विदेश मंत्रालय के अधिकारी और और भारतीय वायु सेना लगातार अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने में जुटे हैं। विदेश मंत्रालय और वायु सेना ने मिलकर ऑपरेशन चला रखा है। अफगानिस्तान से ना केवल भारतीय नागरिकों को वापस लाया जा रहा है, बल्कि वहां फंसे अफगनी हिंदुओं और सिखों को भी भारत में शरण दी गई है।

इस सर्वदलीय बैठक बुलाने का मकसद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि सरकार के इन सफल प्रयासों की जानकारी देश के सभी दलों को दी जाए। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। एस. जयशंकर ने अपने ट्वीट में लिखा, अफगानिस्तान के घटनाक्रम को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय को राजनीतिक दलों के फ्लोर लीडर्स को ब्रीफ करने का निर्देश दिया है। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी आगे की जानकारी देंगे।

पीएम मोदी और विदेश मंत्री हालात पर पैनी नजर बनाए हुए हैं

आपको बता दें कि, अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से वहां की स्थिति काफी खराब बताई जा रही है। राजधानी काबुल समेत हर तरफ अफरा-तफरी का माहौल है। अफगान के लोग देश छोड़कर आना चाहते हैं। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी भी देश छोड़कर जा चुके हैं। भारत भी अपने नागरिकों को लगातार वहां से सुरक्षित निकालने में लगा हुआ है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर अफगानिस्तान अपनी पैनी नजर बनाए हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में अब तक दो कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (सीसीएस) की बैठक भी हो चुकी है। वहीं अफगानिस्तान में फंसे नागरिकों को भारत लाने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। 





Source link

Leave a Comment