Karnataka Hijab Controversy: Pakistan’s minister jumped into the ongoing hijab controversy in Karnataka, India gave a befitting reply-पाकिस्तान के मंत्री कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद में कूदे, भारत


Mukhtar abbas naqvi, Minister of India- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
Mukhtar abbas naqvi, Minister of India

इस्लामाबाद। धार्मिक कट्टरता और आतंकवाद के लिए दुनिया में कुख्यात पाकिस्तान अब भारत को हिजाब मामले में नसीहत देने चला है। पाकिस्तान के कई मंत्री कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद में कूद पड़े हैं। उनकी प्रति​क्रियाओं पर भारत की ओर से अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने करारा जवाब दिया है। पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि मुसलमान लड़कियों को शिक्षा से वंचित करना मौलिक मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन हैं। किसी को इस मौलिक अधिकार से वंचित करना और हिजाब पहनने पर किसी को आतंकित करना दमनात्मक है। वहीं सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद हुसैन ने कहा कि ‘‘हिजाब पहनना किसी भी अन्य परिधान की तरह व्यक्तिगत इच्छा है,नागरिकों को इसकी आजादी दी जानी चाहिए।’’ 

जुर्म और जुल्म का जंगल बना पाक हमें ज्ञान दे रहा: नकवी

पाकिस्तान के इन मंत्रियों के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारत के केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि किसी भी संस्थान के “ड्रेस कोड (परिधान नियमावली), डिसिप्लिन (अनुशासन), डेकोरम डिसीज़न (गरिमा बनाए रखने संबंधी निर्णय)” को सांप्रदायिक रंग देना भारत की समावेशी संस्कृति के खिलाफ साजिश है। नकवी ने यह भी कहा, ‘‘अपने देश में अल्पसंख्यकों पर जुर्म और जुल्म का जंगल बन चुका पाकिस्तान हमें सहिष्णुता और धर्मनिरपेक्षता पर ज्ञान दे रहा है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के सामाजिक-शैक्षिक-धार्मिक अधिकारों को बेदर्दी-बेशर्मी के साथ रौंदा जा रहा है।’’

 उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारत में मुसलमानों सहित सभी अल्पसंख्यकों के अधिकारों की सुरक्षा, सम्मान, हिंदुस्तान के संस्कृति-संस्कार-संकल्प का हिस्सा हैं।’’ इस बीच नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने हिजाब विवाद को ‘‘भयावह’’ करार दिया और भारतीय नेताओं से ‘‘मुसलमान महिलाओं की उपेक्षा बंद’’ करने की मांग की। 





Source link

Leave a Comment