prabhu deva sufferred stomach cramp while film promotion know its precautions samp | गर्दिश में सितारे: Prabhu Deva ने सुपरस्टार की तरह झेली थी ये बीमारी, जानें कितनी है खतरनाक और बचाव का तरीका


90 का दशक बॉलीवुड गानों के राज का दौर था. एक तरफ ‘पहला नशा’, ‘चांद छुपा बादल में’, ‘छैया-छैया’ जैसे गाने लोगों की जुबान पर चढ़े हुए थे, तो वहीं साउथ के दो गाने लोगों को नाचने पर मजबूर कर रहे थे. ये गाने थे ‘उर्वशी-उर्वशी’ और ‘मुकाबला’, जिसने प्रभु देवा को पूरे देश का स्टार बना दिया था. अब प्रभु देवा एक सुपरस्टार हैं, जिन्होंने एक बीमारी का सुपरस्टार की तरह ही सामना किया था. साल 2016 में अपनी फिल्म ‘tootak tootak tootiyan’ का प्रमोशन करते हुए प्रभु देवा को स्टमक क्रैंप का सामना करना पड़ा था. उसके बाद प्रभु देवा ने इंजेक्शन लगवाकर फिल्म प्रमोशन किया था. इस बात की जानकारी देश के एक बड़े राष्ट्रीय अखबार की तरफ से दी गई थी.

‘गर्दिश में सितारे’ सीरीज के सभी आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

क्या होता है स्टमक क्रैंप या पेट में क्रैंप?

स्टमक क्रैंप पेट की मसल्स अचानक और अनियंत्रित तरीके से अकड़ या जकड़ जाती हैं. वेबएमडी के अनुसार, स्टमक क्रैंप अक्सर खुद ही ठीक हो जाते हैं. लेकिन अगर आपको बार-बार इसका सामना करना पड़ रहा है, तो यह किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है. जैसे-

  • फूड पॉइजनिंग
  • स्टमक वायरस
  • फूड एलर्जी
  • फूड इनटॉलरेंस, आदि

ये भी पढ़ें: गर्दिश में सितारे: Saif को इधर मिल रहा था ‘Best Actor’ का अवार्ड, उधर इस जगह हुआ ऐसा दर्द कि जाना पड़ा अस्पताल, जानें इस बीमारी से बचाव

स्टमक क्रैंप से बचाव कैसे करें?

स्टमक क्रैंप से बचने के लिए निम्नलिखित टिप्स को फॉलो करें.

  • बाहर का खुला खाना ना खाएं.
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं.
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने वाले फूड्स खाएं.
  • कैफीन का सेवन कम करें.
  • पेट के लिए हल्के फूड्स खाएं.
  • एलर्जी पैदा करने वाले फूड्स का सेवन ना करें. आदि

एक बार हाफ पैरालाइज हो गए थे प्रभु देवा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘tootak tootak tootiyan’ गाने की शूटिंग के दौरान ही प्रभु देवा अचानक जमीन पर गिर गए थे. जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया था. वहां, डॉक्टर ने बताया कि उन्हें हाफ पैरालाइज हो गया था. जिसके बाद वो करीब 5 घंटे तक असहनीय परेशानी में रहे.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.





Source link

Leave a Comment