There is life anywhere other than Earth scientists get radio signals Know the whole matter | पृथ्वी के अलावा कहीं और भी है जीवन, वैज्ञानिकों को मिले पुख्ता सबूत; जानें पूरा मामला


नई दिल्ली. हाल ही में स्पेस (Space) से कुछ रेडियो सिग्नल (Radio Signals)  वैज्ञानिकों को मिले हैं. इन संकेतों के चलते ये कयास लगाए जा रहे हैं कि पृथ्वी के अलावा भी इस ब्रह्मांड में कहीं जीवन है. सदियों से वैज्ञानिक इस सवाल का जवाब खोजने में लगे हुए हैं कि पृथ्वी के अलावा ब्रह्मांड में कहीं और जीवन है या नहीं. ये हमेशा से एक रहस्य बना हुआ है. लेकिन हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक ऐसा रेडियो संदेश पकड़ा है, जिसके आधार पर यह दावा किया जा रहा है कि ब्रह्मांड में कहीं न कहीं जीवन मौजूद है.

नीदरलैंड में स्थित एंटीना से पकड़े गए हैं सिग्नल

नेचर एस्ट्रोनॉमी पत्रिका में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार स्पेस वैज्ञानिकों ने पहली बार उन तारों का पता लगाया है जो रेडियो सिगनल भेज रहे हैं. इन रेडियो सिग्नल से पता चलता है कि स्पेस में कुछ छिपे हुए ग्रह मौजूद हैं. वैज्ञानिकों ने इन सिग्नलों को दुनिया के सबसे ताकतवर रेडियो एंटीना के जरिए पकड़ा है. वैज्ञानिकों ने नीदरलैंड में स्थित एक निम्न फ्रीक्वेंसी वाले एंटीना से इस रेडियो सिग्नल को पकड़ा है.

ये भी पढ़ें: आज धरती से टकरा सकता है सौर तूफान, मोबाइल नहीं करेगा काम; बत्ती हो जाएगी गुल!

छिपे हुए ग्रह होने के मिले हैं प्रमाण

स्पेस से आए इन रेडियो सिग्नल ने वैज्ञानिकों को हैरान कर दिया है. अब वैज्ञानिकों को ये संभावना दिख रही है कि पृथ्वी के अलावा भी ब्रह्मांड में जीवन है. इस बारे में यूनिवर्सिटी आफ क्वींसलैंड के डॉक्टर बेंजामिन को और उनकी टीम का कहना है कि छिपे हुए ग्रहों को खोजने की इस नई टेक्नॉलोजी से ब्रह्मांड में कहीं और जीवन मौजूद होने की संभावना और मजबूत हो रही है. रेडियो सिग्नल मिलने से स्पेस साइंटिस्ट्स में उत्‍साह बढ़ा है. 

इस टेक्नॉलोजी से हो रही है अन्य ग्रहों की खोज

बता दें, स्पेस वैज्ञानिक फ्रीक्वेंसी एरा टेक्नॉलोजी के जरिए ही ब्रह्मांड में अन्य ग्रहों की खोज कर रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने 19 सुदूर रेड ड्वार्फ सिग्नलों को पकड़ा है. इनमें चार सिग्नलों से स्पष्ट तौर पर पता चलता है कि इन तारों के आसपास अन्य ग्रह मौजूद हैं.

ये भी पढ़ें: ब्रह्मांड का वर्चुअल टूर कराएगा ‘वायरप’, आकाश गंगा को देखने का मिलेगा मौका!

तारों से चुबंकीय तरंगें आने के पुख्ता सबूत

दरअसल, अंतरिक्ष वैज्ञानिक लंबे समय से ब्रह्माण्ड में अन्य ग्रहों की खोज में जुटे हैं. वैज्ञानिकों का कहना है कि वे जानते हैं कि हमारे अपने सौर मंडल के ग्रह शक्तिशाली रेडियो तरंगे भेजते हैं, क्योंकि इनका चुंबकीय क्षेत्र सौर हवा से मिलता है. लेकिन हमारे सौर मंडल से बाहर के ग्रहों से निकलने वाली रेडियो तरंगों को अभी तक नहीं पकड़ा गया था. इसके पहले वैज्ञानिक केवल हमारे सौर मंडल के आस पास के तारों के बारे में ही खोज कर पाए थे. स्पेस वैज्ञानिकों को इस बात के पुख्ता प्रमाण मिल चुके हैं कि ये चुबंकीय तरंगें तारों से आ रही हैं और उनके आस-पास चक्कर लगाने वाले ग्रह मौजूद हैं.

LIVE TV





Source link

Leave a Comment